1.11.18

शशि थरूर ने रविशंकर प्रसाद को कानूनी नोटिस भेजकर उन्हें 'हत्यारोपी' बताने के मामले में 48 घंटे के भीतर माफ़ी मांगे को कहा

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद को कानूनी नोटिस भेजकर उन्हें 'हत्यारोपी' बताने के लिए बिना शर्त माफी मांगने को कहा है. 


शशि थरूर की ओर से लॉ फर्म सूरज कृष्णा एंड एसोसिएट्स द्वारा भेजे गए कानूनी नोटिस में लिखा है-"आपको मालूम है कि शशि थरूर की दिवंगत पत्नी सुनंदा पुष्कर की मौत के सिलसिले में उनके खिलाफ चल रहे आपराधिक मुकदमे में अभियोजन पक्ष की ओर से उनके खिलाफ हत्या का अपराध करने का आरोप नहीं है और निचली अदालत ने उनके खिलाफ कोई आरोप दर्ज नहीं किया है."
शशि थरूर के बिच्छु वाले बयान पर प्रकाश जावड़ेकर का पलटवार, कहा- राजीव गांधी ने भी 1984 में की थी यह गलती
नोटिस में कहा गया है कि शशि थरूर के खिलाफ पुलिस के आरोप पत्र में भी हत्या का कोई आरोप दर्ज नहीं किया गया है. नोटिस में लिखा है-"आपका यह बयान कि शशि थरूर हत्या के गंभीर आरोप में आरोपित हैं, से आपकी कुछ परोक्ष मंशा जाहिर होती है."
शशि थरूर ने RSS के हवाले से कहा, "पीएम मोदी शिवलिंग पर बैठे बिच्छू जैसे", बीजेपी ने दी कड़ी प्रतिक्रिया
नोटिस में कहा गया है कि उपर्युक्त परिस्थितियों से जाहिर है कि आपने मानहानि का अपराध किया है, जिसके लिए आपके ऊपर अदालत में मुकदमा चलाया जा सकता है. 
रविशंकर प्रसाद के बयान के बाद शशि थरूर ने पूछा कि आखिर आप किस मर्डर की बात कर रहे हैं, क्या आप किसी और मर्डर थ्योरी की प्लानिंग कर रहे हैं मिस्टर लॉ मिनिस्टर.
पूर्व पीएम मनमोहन सिंह का हमला, PM मोदी 'असत्यवादी प्रधानमंत्री' हैं, उन्होंने लोगों का यकीन तोड़ा
शशि थरूर पर ऐसा असत्य, मिथ्या व निराधार आरोप लगाने के लिए एतद द्वारा आपसे नोटिस मिलने के 48 घंटे के भीतर बिना शर्त व लिखित माफी मांगने को कहा जाता है." नोटिस में यह भी कहा गया है कि अगर वह माफी नहीं मांगते हैं तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

SHARE THIS

0 Comment to "शशि थरूर ने रविशंकर प्रसाद को कानूनी नोटिस भेजकर उन्हें 'हत्यारोपी' बताने के मामले में 48 घंटे के भीतर माफ़ी मांगे को कहा "

Post a Comment

THE7.IN_01