पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन बोले टीम इंडिया के पास है ऑस्ट्रेलिया में जीतने की संभावना - Find Any Thing

RECENT

Saturday, November 03, 2018

पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन बोले टीम इंडिया के पास है ऑस्ट्रेलिया में जीतने की संभावना

पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन बोले टीम इंडिया के पास है ऑस्ट्रेलिया में जीतने की संभावना. भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का भी यही कह चुके हैं कि टीम इंडिया के पास इस बार ऑस्ट्रेलिया में जीतने का बेहतरीन मौका है.


पूर्व कप्तान ने कहा भारत को कड़ी मेहनत करनी होगी. इससे पहले भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का भी यही कह चुके हैं कि टीम इंडिया के पास इस बार ऑस्ट्रेलिया में जीतने का बेहतरीन मौका है.
अजहरूद्दीन ने ईडन गार्डन्स में जगमोहन डालमिया वार्षिक सम्मेलन से इतर संवाददाताओं से कहा, "भारत के ऑस्ट्रेलिया में जीतने की अच्छी संभावनाएं हैं. भारतीय टीम अच्छी है और इसलिए मैं उसे जीत का प्रबल दावेदार मानता हूं. ऑस्ट्रेलिया में हालांकि जीतना आसान नहीं होगा लेकिन यह भारतीय टीम जीत सकती है."सचिन ने भी यही कहा है
सचिन पहले ही कह चुके हैं कि दो अहम खिलाड़ियों स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर के आस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा नहीं होने के कारण भारत के पास इस देश के दौरे पर कुछ विशेष करने का बेहतरीन मौका है. भारत की संभावनाओं के बारे में तेंदुलकर ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमारे पास बड़ा मौका है, आस्ट्रेलियाई टीम उस तरह की टीम नजर नहीं आती जैसी हुआ करती थी और स्मिथ तथा वार्नर भी नहीं हैं. अजहर के अलावा इस सम्मेलन में वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान ब्रायन लारा, कार्ल हूपर, भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली भी मौजूद थे. इन सभी ने चर्चा में हिस्सा लिया और 1993 सीएबी टूर्नामेंट 'द हीरो कप' की 25वीं वर्षगांठ का जश्न मनाया. बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष डालमिया पर लेक्चर देने वाले दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रैम स्मिथ भी थे.अजहर से कूकाबुरा गेंद को लेकर चल रहे विवाद के बारे में भी पूछा गया. हाल ही में सचिन तेंदुलकर ने भी कहा था कि कूकाबुरा गेंद वक्त के साथ मुलायम हो जाती है जिससे ऑस्ट्रेलिया में शॉट लगाना आसान होता है. अजहर ने कहा, "मेरा मानना है कि अलग-अलग देशों में अलग-अलग गेंदों का इस्तेमाल होता है. आप नियमों के बारे में ज्यादा कुछ नहीं कर सकते. हां कूकाबुरा गेंद के साथ बात यह है कि ये ज्यादा स्विंग नहीं करती. इंग्लैंड में ड्यूक गेंद का इस्तेमाल होता है जबकि भारत में एसजी गेंद का."
वहीं दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ का मानना था कि कूकाबुरा की गेंद टेस्ट क्रिकेट के रोमांच का खत्म कर रही है. उन्होंने कहा, "कूकाबुरा गेंद लोगों को निराश कर रही है. यह गेंद मुलायम हो जाती है और लंबे समय तक स्विंग नहीं करती. मैं समझता हूं कि टेस्ट क्रिकेट बोरिंग ड्रॉ मैचों को और नहीं झेल सकता. टेस्ट क्रिकेट को ऐसी गेंद की जरूरत है जो स्पिन करे, उसे ऐसी गेंद चाहिए स्विंग हो और हवा में दिशा बदले.

No comments:

Post a Comment