भारत लौटने के बाद भी कुछ समय तक होगी अभिनंदन के साथ सख़्त पूछताछ - Find Any Thing

RECENT

Friday, March 01, 2019

भारत लौटने के बाद भी कुछ समय तक होगी अभिनंदन के साथ सख़्त पूछताछ

भारत लौटने के बाद भी कुछ समय तक होगी अभिनंदन के साथ सख़्त पूछताछ.

(After returning to India, there will be a brief inquiry with abhinandan)
भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने बेशक बहादुरी और साहस का परिचय दिया और पाकिस्तान सेना के कब्ज़े में होने जैसी कठिन परिस्थिति में रहकर लौटने के बाद भी कुछ समय तक अभिनंदन को कठिन समय का सामना करना पड़ेगा.
भारतीय कानून के मुताबिक युद्ध कैदी रहे किसी भी जवान के साथ जैसा बर्ताव किया जाता है, वही अभिनंदन के साथ भी होगा.
भारत की तरफ से आतंकियों के खिलाफ एयर स्ट्राइक के अगले दिन एक विमान क्रैश के बाद पाकिस्तान सेना के कब्ज़े में ले लिये गए अभिनंदन के लिए पिछले कुछ घंटों से पूरा देश दुआएं कर रहा था और आखिरकार गुरुवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अभिनंदन को भारत को सौंपने का ऐलान कर दिया.

भारत लौटने के बाद अभिनंदन के साथ क्या और कैसा बर्ताव किया जाएगा:-
इन सवालों के जवाब में उन्होंने कहा कि 'अभिनंदन ने बेशक वीरता का सबूत दिया और देश को गौरव, लेकिन दुर्भाग्यवश इन-सर्विस लॉ के मुताबिक उसे भी अन्य युद्ध कैदियों की तरह कड़ी पूछताछ से गुज़रना होगा. भारतीय सुरक्षा एजेंसियां अभिनंदन का सम्मान करती हैं. लेकिन, एक बार अगर हमारा कोई जवान दुश्मन के हाथों पकड़ा जाता है तो वह कोई भी हो, उसे सख़्त पूछताछ के दौर से गुज़रना ही होता है.
उन्होंने आगे बताया कि अभिनंदन जैसे ही भारत को सौंपा जाएगा, वैसे ही भारतीय वायु सेना इंटेलिजेंस के सपुर्द कर दिया जाएगा. उसके बाद अभिनंदन के कई परीक्षण और जांचें की जाएंगी ताकि समझा जा सके कि वह फिट और स्वस्थ है. पूरी स्कैनिंग होगी, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि पाकिस्तान की तरफ से उसके शरीर में किसी तरह की कोई खुफिया चिप तो नहीं लगाई गयी है अभिनंदन के मनोवैज्ञानिक टेस्ट भी किए जाएंगे क्योंकि वह दुश्मन देश की कैद में था, वह भी बिल्कुल अकेला. भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सीक्रेट के खुलासों को लेकर उसके साथ कई किस्म की ज़्यातदतियां की गई हों, यह संभव है इसलिए वह एक सदमे के दौर से गुज़रा होगा. इसी कारण ये टेस्ट किए जाते हैं. उन्होंने यह भी बताया कि इस बात की संभावना कम है कि अभिनंदन को आईबी या रॉ के हवाले किया जाए क्योंकि एयर फोर्स इंटेलिजेंस अपने अफसरों को उनके सुपुर्द नहीं करता है. लेकिन अभी इस बारे में भी कुछ कहा नहीं जा सकता.

No comments:

Post a Comment