मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद नए सीएम के लिए करना होगा थोडा और इंतजार - Find Any Thing

RECENT

Monday, March 18, 2019

मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद नए सीएम के लिए करना होगा थोडा और इंतजार

मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद नए सीएम के लिए करना होगा थोडा और इंतजार.

(After the demise of Manohar Parrikar, the new CM will have to wait a little more)
गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने कल अपने आवास पर अंतिम सांस ली. पर्रिकर एक साल से पैनक्रियाटिक कैंसर से जूझ रहे थे. 
उनके निधन के बाद गोवा में राजनीतिक संकट गहरा गया है. कांग्रेस के सरकार बनाने का दावा ठोकने के बाद बीजेपी नेतृत्व गोवा में नए सीएम की तलाश में जुटा है.
पर्रिकर की जगह लेने के लिए बीजेपी की तरफ से विश्वजीत राणे और प्रमोदी सावंत के नाम सुझाए गए हैं. लेकिन सूत्रों की मानें तो बीजेपी के सहयोगी दलों महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी), गोवा फॉरवर्ड पार्टी और निर्दलीय विधायकों में इन नामों को लेकर सहमति नहीं बन पा रही है. नए सीएम के लिए गोवा को अभी और थोडा इंतजार करना पड़ेगा. मनोहर पर्रिकर की हालत बेहद नाजुक होने की खबर सामने आने के बाद बीजेपी नेतृत्व ने पणजी पहुंचकर सहयोगी दलों के विधायकों से मीटिंग की. मीटिंग से बाहर आने के बाद मीडिया से बात करते हुए गोवा फॉरवर्ड पार्टी के विजय सरदेसाई ने कहा, 'हमने मनोहर पर्रिकर को समर्थन दिया था न कि बीजेपी को. अब जब वह नहीं रहे तो विकल्प खुले हुए हैं. हम गोवा में स्थिरता चाहते हैं. हम नहीं चाहते हैं कि सदन को भंग किया जाए. हम बीजेपी विधायिका दल के फैसले का इंतजार करेंगे और उसके बाद अगला कदम उठाएंगे.


कांग्रेस ने ठोका था सरकार बनाने का दावा:-
इससे पहले शुक्रवार को कांग्रेस ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा को चिट्ठी लिखकर सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया. इसके तुरंत बाद हरकत में आए बीजेपी के विधायक और कोर कमिटी के सदस्यों ने इमरजेंसी मीटिंग की. मीटिंग में इस बात पर मंथन किया गया कि कैसे मौजूदा राजनीतिक हालात से निपटा जाए.
विधायक डि'सूजा के निधन और दो विधायक सुभाष शिरोडकर व दयानंद सोप्ते के इस्तीफे के बाद 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में 37 विधायक रह गए हैं. कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी है और उसके पास 14 विधायक हैं. जबकि बीजेपी के पास 13 विधायक हैं. जिसे महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी के 3, गोवा फारवर्ड पार्टी के 3 और 3 निर्दलीय विधायकों का समर्थन हासिल है. बीजेपी अल्पमत में है. इसलिए उसे सरकार में रहना नहीं चाहिए.

No comments:

Post a Comment