तेलंगाना में सात दिन में 18 बच्चों ने की आत्महत्या, विवादों में घिरा बोर्ड रिजल्ट - Find Any Thing

RECENT

Thursday, April 25, 2019

तेलंगाना में सात दिन में 18 बच्चों ने की आत्महत्या, विवादों में घिरा बोर्ड रिजल्ट

तेलंगाना में सात दिन में 18 बच्चों ने की आत्महत्या, विवादों में घिरा बोर्ड रिजल्ट         18 children suicides in seven days in Telangana, board result in disputes


एक सप्‍ताह पहले तेलंगाना बोर्ड इंटरमीडिएट परीक्षा के नतीजे जारी होने के बाद अब तक 18 छात्रों ने आत्‍महत्‍या कर ली है. इसे लेकर छात्रों के माता-पिता विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. तेलंगाना बोर्ड ऑफ इंटरमीडिएट एजुकेशन (TSBIE) इंटरमीडिट के नतीजों को देखते हुए राज्‍य सरकार ने इस साल परीक्षा में फेल हुए 3 लाख से ज्‍यादा छात्रों की कॉपियों को दोबारा जांचने का आदेश दे दिया है. परीक्षा के नतीजे 18 अप्रैल को घोषित किए गए थे. इस साल परीक्षा में करीब 9.74 लाख छात्रों ने हिस्‍सा लिया था. इसमें से 3.28 लाख फेल हो गए थे|

राज्‍य सरकार ने इस साल परीक्षा के लिए रजिस्‍ट्रेशन से लेकर रिजल्‍ट जारी करने तक की जिम्‍मेदारी एक निजी फर्म ग्‍लोबरेना टेक्‍नोलॉजीज को दी थी. छात्रों और अभिभावकों का कहना है कि फर्म ने बड़ी लापरवाही करते हुए छात्रों को फेल कर दिया है|

हमेशा अच्‍छा परफॉर्म करने वाले छात्र को क‍िया फेल

आत्‍महत्‍या करने वाले छात्रों में एक छात्र जी नागेंद्र भी था, जो नारायना कॉलेज में पढ़ाई करता था. मैथ्‍स में फेल होने के बाद नाग्रेंद्र ने आत्‍महत्‍या कर ली. नाग्रेंद्र के पिता जी विवेकानंद ने बताया कि उनका बेटा पढ़ाई में अच्‍छा था और वह यह बात को स्‍वीकार नहीं कर पाया कि वह मैथ्‍स में फेल हो सकता है, जो कि उसका सबसे पसंदीदा विषय था. कुछ दिनों से वह कटा-कटा रहने लगा था. खाने से इंकार कर रहा था. उसे लगा कि इसके बाद जिंदगी खराब हो गई है|
रिपोर्ट के अनुसार फर्म ने ऐसे छात्रों को 5 से 10 अंक दिए हैं, जो पढ़ाई में हमेशा अव्‍वल रहते हैं और कुछ छात्रों को परीक्षा में भाग लेने के बावजूद एब्‍सेंट दिखाया है. 12वीं की छात्रा जी. नाव्‍या को तेलगु पेपर में 0 अंक प्राप्‍त हुए थे. नाव्‍या ने अपना तेलगु पेपर री-इवैल्‍युएशन के लिया दिया. री-इवैल्‍युएशन करने पर नाव्‍या को जिस पेपर में 0 अंक प्राप्‍त हुए थे, उसमें 99 अंक प्राप्‍त हुए. इसके बाद बुधवार को विरोध प्रदर्शन ने जोर पकड़ लिया. नव्या का मामला इस संदेह को मजबूत करता है कि रिजल्‍ट तैयार करने में कई गड़बडि़यां हुई हैं. इसके कारण ज्यादातर छात्रों को विफल कर दिया गया है|

तेलंगाना पेरेंट्स एसोसिएशन द्वारा एक जनहित याचिका के आधार पर, उच्च न्यायालय ने मंगलवार को TSBIE को असफल छात्रों की उत्तरपुस्तिकाओं को फिर से जांचने को कहा है. तेलंगाना शिक्षा विभाग ने अदालत को बताया कि इस प्रक्रिया में कम से कम दो महीने लगेंगे और कहा कि वह चर्चा के बाद जवाब प्रस्तुत करेगा.विरोध प्रदर्शन तेज होने के साथ, राज्य सरकार ने परीक्षा पत्र के पुनर्मूल्यांकन और जांच के आदेश दिए हैं. इसके बाद एक टीम बनाई गई गई है, जो ग्‍लोबरेना सिस्‍टम की खामियों की जांच करेगी. इंडियर एक्‍सप्रेस में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार तेलंगाना शिक्षा मंत्री जी. जगदीश रेड्डी ने कहा कि वह कमेटी की रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं. इसके बाद ही इस घटना के पीछे के कारणों का पता चल सकेगा. इसके पीछे जो भी होगा, उसे सजा जरूर मिलेगी|

No comments:

Post a Comment