World Maleria Day: WHO के मुताबिक़, दुनिया भर में मच्छरों के काटने से हर साल लगभग 10 लाख से ज्यादा लोगों की होती है मौत - Find Any Thing

RECENT

Thursday, April 25, 2019

World Maleria Day: WHO के मुताबिक़, दुनिया भर में मच्छरों के काटने से हर साल लगभग 10 लाख से ज्यादा लोगों की होती है मौत

World Maleria Day: WHO के मुताबिक़, दुनिया भर में मच्छरों के काटने से हर साल लगभग 10 लाख से ज्यादा लोगों की होती है मौत

World Maleria Day: According to WHO, more than 1 million people die of mosquito bites annually


मच्छरों की वजह से मलेरिया, डेंगू, येलो फीवर और चिकुनगुनिया जैसी जानलेवा बीमारियां हो जाती हैं. आज 25 अप्रैल को पूरे विश्व में विश्व मलेरिया दिवस मनाया जा रहा है. यह जानलेवा बीमारी मच्छरों के काटने से होती है. फीमेल एनोफिलीज मॉस्किटो के काटने से मलेरिया होता है. आइए जानते हैं ऐसे और भी कारण जिसकी वजह से मलेरिया फैलता है. एक शोध के मुताबिक़, व्यक्ति को काटने वाले मच्छर के पैरासाइट्स की संख्या पर मलेरिया की बीमारी निर्भर करती है|

इस तरह फैलता है मलेरिया

फीमेल एनोफिलीज मॉस्किटो जब व्यक्ति को काटता है तो उसमें मौजूद पैरासाइट्स व्यक्ति के शरीर में पहुंच जाती हैं. 8-9 दिन तक शरीर में ये पैरासाइट्स तेजी से बढ़ते रहते हैं. बाद में वो पूरे शरीर में फैल जाते हैं. तब कहीं जाकर मलेरिया के लक्षण समझ में आते हैं|

लंदन के इंपीरियल कॉलेज के वैज्ञानिकों ने बताया कि, RTS ही एक ऐसी वैक्सीन है जो मलेरिया के लिए कारगर है. हालांकि यह वैक्सीन महज 50 प्रतिशत मामलों में ही असरकारक है.इस सिलसिले में रिसर्चर ने जानकारी दी कि वैक्सीन का प्रभाव काफी सीमित इसलिए होता है क्योंकि यह एक निश्चित संख्या के पैरासाइट्स को ही मार पाने में सक्षम है|

ऐसे पहचानें मलेरिया के लक्षण

अगर एक दिन छोड़कर बुखार आता है उस समय आपको बहुत तेजी से सर्दी लगती है तो आपको मलेरिया हो सकता है. इसमें अचानक कंपकंपी के साथ बहुत तेज बुखार इसके बाद गर्मी लगती है फिर बुखार आता है. जैसे जैसे बुखारी कम होता है पसीना आता है और कमजोरी लगती है. मलेरिया का बुखार तीन-चार दिन तक रहता है|

No comments:

Post a Comment