Shivpal Yadav बोले यह गठबंधन प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के बिना अधूरा है - Find Any Thing

RECENT

Sunday, January 13, 2019

Shivpal Yadav बोले यह गठबंधन प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के बिना अधूरा है

Shivpal Yadav बोले यह गठबंधन प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के बिना अधूरा है

(Shivpal Yadav says this alliance is incomplete without progressive socialist party Lohia)
अखिलेश यादव और मायावती के भाजपा के खिलाफ गठबंधन का एलान करने के बाद पूर्व सपा नेता और अखिलेश के चाचा शिवपाल यादव ने प्रतिक्रिया दी हैं. शिवपाल यादव ने कहा, 'यह गठबंधन प्रगतिशील समाजवादी पार्टी-लोहिया (पीएसपी-एल) के बिना अधूरा है. केवल एक सेक्युलर फ्रंट ही भाजपा को हरा सकता है.' गठबंधन में शिवपाल सिंह यादव के शामिल होने के सवाल पर मायावती ने शनिवार को कहा था कि उनकी पार्टी को भाजपा फंड दे रही है, यह केवल वोटों को बांटने के लिए साजिश रची जा रही है.कुछ दिन पहले ही शिवपाल ने सपा में शामिल होने की संभावना से तो इनकार कर दिया था.अगर किसी पार्टी से गठबंधन नहीं हुआ तो प्रसपा प्रदेश की सभी 80 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी. bjp को हराने के लिए सेक्युलर फ्रंट की जरूरत है.मुलायम से प्रसपा के टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ने का आग्रह करेंगे. अगर वह इस प्रस्ताव को स्वीकार नहीं करते तो उनकी पार्टी चुनाव में उनका समर्थन करेगी, चाहे वह जहां से भी मैदान में उतरें.
बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की कुल 80 लोकसभा सीटों में से 38-38 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेंगी. इन दोनों पार्टियों ने राज्य की दो सीटें छोटी पार्टियों के लिए छोडी हैं, जबकि अमेठी और रायबरेली की दो सीटें कांग्रेस पार्टी के लिए छोड़ने का फैसला किया है. 

बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में यह घोषणा की. 
मायावती ने बसपा-सपा गठबंधन को ‘नई राजनीतिक क्रांति का आगाज' करार देते हुए कहा कि इस गठबंधन से ‘गुरू-चेला' (नरेंद्र मोदी और अमित शाह) की नींद उड़ जाएगी.
नए वर्ष में यह एक प्रकार की नई राजनीतिक क्रांति की शुरुआत है. इस गठबंधन से समाज की बहुत उम्मीदें जग गई हैं. यह सिर्फ दो पार्टियों का मेल नहीं है बल्कि सर्वसमाज (दलित, पिछड़ा, मुस्लिम, आदिवासी, गरीबों, किसानों और नौजवानों) का मेल है.

No comments:

Post a Comment