दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर मंडरा रहे है ये काले बादल, जानिए भारत पर पड़ेगा कितना असर - THE7 :: Find Any Thing

RECENT

FOR YOUR ADVERTISEMENT HERE CALL @ 9219562228

3.3.19

दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर मंडरा रहे है ये काले बादल, जानिए भारत पर पड़ेगा कितना असर

दुनियाभर की अर्थव्यवस्था पर मंडरा रहे है ये काले बादल, जानिए भारत पर पड़ेगा कितना असर.

(This dark cloud is going on in the world economy, know how much impact India will have)
पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था में आर्थिक मंदी का खतरा मंडरा रहा है. वहीं भारत की अर्थव्यवस्था की विकास दर दोनों साल( 2019-2020) के दौरान 7.3 फीसदी रहने का अनुमान है, क्योंकि भारत पर आर्थिक मंदी का खतरा इस बार कम रहेगा. यह अमेरिकी रेटिंग एजेंसी मूडीज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है. हाल ही में वर्ल्ड बैंक ने भी अपनी आर्थिक मंदी को लेकर सावधान किया है. दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाएं एक बार फिर संकट में घिर सकती हैं. इसके बड़ा कारण बढ़ता हुआ कर्ज, बैंकिंग सिस्टम का चरमरा जाना और अमेरिका-चीन के बीच ट्रेड वॉर है.
  1. ग्लोबल अर्थव्यवस्था में कुल उत्पादन का 40 फीसदी हिस्सा उभरते बाजारों से आता है, लेकिन इनमें जोखिम का खतरा काफी है. अधिकतर ऐसे बाजारों में विदेशी मुद्रा और डॉलर का दबदबा रहता है. ऐसी स्थिति में जब अमेरिका ब्याज दर बढ़ाता है, तो सिस्टम से पैसा बाहर जाने लगता है और बाजार कमजोर पड़ जाते हैं.
  2. अमेरिका और चीन एक दूसरे के प्रोडक्ट पर शुल्क लगा रहे हैं. चीन ने अमेरिकी मांस और सब्जियों पर तो वहीं अमेरिका ने चीन से आने वाले स्टील, टैक्सटाइल्स और तकनीक पर शुल्क बढ़ा दिया है. दोनों देश का यह विवाद करीब 360 अरब डॉलर तक पहुंच गया है.
  3. साल 2008 के बाद से अब तक दुनिया में कर्ज का स्तर 60 फीसदी तक बढ़ गया है. विकसित और विकासशील देशों की अर्थव्यवस्थाओं में "डूबा कर्ज" एक बड़ी समस्या बन कर उभरा है. तकरीबन 1,82,000 करोड़ डॉलर सरकारी और प्राइवेट क्षेत्रों में कर्ज़ के तौर पर फंसे हुए हैं.
  4. दुनियाभर के बैंकिग सिस्टम चरमराने लगे है. मौजूदा समय में बैंकिंग सेक्टर के अलावा अब कई वित्तीय संस्थाएं भी लेनदेन में सक्रिय हो गए हैं. 
  5. माना जा रहा है कि मार्च 2019 में ब्रिटेन, यूरोपीय संघ से पूरी तरह अलग हो जाएगा. समय तेजी से निकल रहा है लेकिन अब तक यूरोपीय संघ से ब्रिटेन के अलग होने की योजना पूरी तरह से तैयार नहीं हो सकी है. ऐसे में यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था पर संकट बढ़ सकता है.

No comments:

Post a Comment

FOR YOUR ADVERTISEMENT HERE CALL @ 9219562228