जानिए श्रीनगर में मतदान के दौरान किस बात पर रहेगा ध्यान - Find Any Thing

RECENT

Thursday, April 18, 2019

जानिए श्रीनगर में मतदान के दौरान किस बात पर रहेगा ध्यान

जानिए श्रीनगर में मतदान के दौरान किस बात पर रहेगा ध्यान.

(learn about what will be the focus during the voting in srinagar)
कश्मीर घाटी में आज हाई अलर्ट जारी रहेगा. 12,90,318 मतदाता इसी उलझन में रहेंगे कि बाहर निकलें या नहीं. श्रीनगर संसदीय क्षत्र में मतदान के लिए 1,716 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं. सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं ताकि लोग निडर होकर मतदान कर सकें. इसके बावजूद घाटी के ज्यादातर लोग मतदान नहीं करने का फैसला कर सकते हैं, क्योंकि यह उनके लिए आसान निर्णय है.
कश्मीर में चुनाव के दौरान ना तो आंकड़े देखे जाते हैं और ना ही जातीय समीकरण. यहां तक कि वादी में गठबंधन भी कोई मसला नहीं है. गठबंधन लड़खड़ाती हुई पार्टियों और डगमगाते लोगों की मदद के लिए किए जाते हैं, लेकिन यहां ऐसा कुछ नहीं होता है. 12,90,318 मतदाता इसी उलझन में है की वो घर से बहार निकल कर वोट डालने जाये या नहीं. असल में यहां अहम सवाल होता है कि क्या लोग घरों से निकलकर मतदान केंद्रों तक पहुंचेंगे? बड़ी तादाद में श्रीनगर के लोगों का जवाब ना में मिलेगा. इसलिए आज हर किसी की नजर इस बात पर लगी है कि चुनाव केंद्रों पर कितनी लंबी कतारें लगेंगी. हर तरफ इसी की चर्चा है कि घाटी में कितने फीसदी मतदान होगा. श्रीनगर लोकसभा सीट पर 2017 में हुए उपचुनाव में महज 7.14 फीसदी मतदान हुआ था, जो तीन दशक में सबसे कम था. चुनाव आयोग ने चार दिन बाद 38 पोलिंग बूथ पर पुनर्मतदान का आदेश दिया था. इस बार महज दो फीसदी मतदान हुआ. इससे कुल मत प्रतिशत घटकर 7.13 फीसदी रह गया. कहा जा सकता है कि उपचुनाव के दौरान वादी में हर 10 में सिर्फ एक मतदाता पोलिंग बूथ तक पहुंचा. उपचुनाव में जम्मू-कश्मीर नेशनल कांफ्रेंस ने जीत दर्ज की. पीडीपी के तारिक हमीद कर के 2016 में लोकसभा और पार्टी से इस्तीफा देने के कारण यह सीट खाली हुई थी. उन्होंने 2014 में इस सीट पर 50.6 फीसदी वोट हासिल कर जेकेएनसी के फारूक अब्दुल्ला को शिकस्त दी थी.

No comments:

Post a Comment