अब किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए लोन लेना हुआ बहुत आसान, सिर्फ इन डाक्यूमेंट्स की होगी जरूरत - Find Any Thing

RECENT

Friday, April 26, 2019

अब किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए लोन लेना हुआ बहुत आसान, सिर्फ इन डाक्यूमेंट्स की होगी जरूरत

अब किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए लोन लेना हुआ बहुत आसान, सिर्फ इन डाक्यूमेंट्स की होगी जरूरत.

(now it is very easy to take loan through kisan credit card, only these documents will be needed)
मोदी सरकार पीएम-किसान सम्मान निधि के तहत 12 करोड़ किसानों को सालाना 6000 रुपये की सहायता दे ही रही है. साथ ही किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) के जरिए लोन लेना भी अब बहुत आसान कर दिया है. अब आप कभी भी आसानी से लोन ले सकते है.
खास बात ये है कि इसके तहत 3 लाख रुपये तक का कर्ज सिर्फ 7 फीसदी ब्याज पर मिलता है. समय पर पैसा लौटा देते हैं तो 3 फीसदी की छूट मिलती है. इस तरह ईमानदार किसानों को 4 परसेंट ब्याज पर ही पैसा मिल रहा है.
लोकसभा में पेश एक रिपोर्ट के मुताबिक देश के हर किसान पर औसतन 47000 रुपये का कर्ज है. जिसमें साहूकारों से इतना कर्ज लिया गया है कि यह प्रति किसान 12,130 रुपये औसत आता है. साहूकारों से कर्ज लेकर वे ऐसे दुष्चक्र में फंस जाते हैं कि सबकुछ बिक जाता है और वे पैसा न लौटा पाने की स्थिति में आत्महत्या के लिए मजबूर होते हैं. जबकि केसीसी उनकी जिंदगी आसान कर सकता है.

Kisan Credit Card, किसान क्रेडिट कार्ड, kcc, केसीसी, बैंक, bank, farmer, किसान, kisan, Aadhaar, आधार, PAN, पैन, farmers welfare, former income, किसानों की आय, किसान कल्याण, Agriculture, कृषि, agri loan waiver, farmer debt, कृषि कर्ज, Ministry of Agriculture, कृषि मंत्रालय, pm kisan samman nidhi Scheme, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम इस स्कीम से आसान हो सकता है किसानों का जीवन
पहला कि आवेदक किसान है या नहीं. इसके लिए उसका राजस्व रिकॉर्ड देखें. उसकी पहचान के लिए आधार, पैन, फोटो लें और तीसरा उसका एफीडेविड लिया जाए कि किसी बैंक में आवेदक का कर्ज तो बकाया नहीं है. सरकार ने बैंकिंग एसोसिएशन से केसीसी बनाने के काम में तेजी लाने को कहा है. सरकार की सलाह पर इंडियन बैंक एसोसिएशन ने भी एक एडवाइजरी जारी करके बैंकों से कहा था कि केसीसी बनवाने में लगने वाली फीस व चार्ज में छूट देने को कहा था क्योंकि केसीसी बनवाने के लिए बहुत सारे रुपये तक का खर्च आता था.

No comments:

Post a Comment