सुबह को ब्रेकफस्ट स्किप करने से बढ़ सकता है हार्ट अटैक का खतरा - Find Any Thing

RECENT

Tuesday, April 23, 2019

सुबह को ब्रेकफस्ट स्किप करने से बढ़ सकता है हार्ट अटैक का खतरा

सुबह को ब्रेकफस्ट स्किप करने से बढ़ सकता है हार्ट अटैक का खतरा.

(the danger of heart attack can increase by skipping breakfast in the morning)
ज्यादातर लोग जब सुबह ऑफिस के लिए लेट हो रहे होते हैं तो ब्रेकफस्ट स्किप कर देते हैं यह सोचकर कि लंच हेवी कर लेंगे। लेकिन ऐसा करना न सिर्फ सेहत को नुकसान पहुंचाता है बल्कि समय से पहले मौत के खतरे को भी कई गुना बढ़ा देता है।


समय से पहले मौत का खतरा 5 गुना अधिक:-प्रिवेन्टिव कार्डियॉलजी के यूरोपीय जर्नल ‘द फाइंडिग्स’ में छपे शोध पत्र में बताया गया है कि इस प्रकार के अस्वास्थ्यकारी जीवनशैली वाले लोगों में समय से पहले मौत होने की संभावना 4 से 5 गुना बढ़ जाती है और दिल का दौरा पड़ने का खतरा भी कई गुना बढ़ जाता है। इस शोध के सह-लेखक ब्राजील के साउ-पाउलो सरकारी विश्वविद्यालय के मार्कोस मिनीकुची का कहना है, ‘हमारे शोध के नतीजों से पता चलता है कि खाना खाने के गलत तरीके को जारी रखने का नतीजा बहुत खराब हो सकता है, खासतौर से दिल के दौरे के बाद। शरीर में एनर्जी लेवल बना रहे और शरीर की सभी क्रियाएं ठीक ढंग से हों इसके लिए ज्यादातर लोग दिन में 2-3 बार खाना खाते हैं। इसमें सबसे जरूरी होता है सुबह का नाश्ता, क्योंकि रात के भोजन से मिली ऊर्जा और पोषक तत्वों को शरीर तमाम क्रियाओं में खर्च कर देता है, जिसके बाद उसे सुबह फिर से ऊर्जा की जरूरत पड़ती है, इसलिए हमें भूख लगती है। सुबह ऑफिस जाना हो, स्कूल जाना हो या फिर घर का ही काम क्यों न करना हो, अक्सर जल्दबाजी के कारण बहुत से लोग सुबह का नाश्ता नहीं करते। अगर आप अक्सर सुबह का नाश्ता छोड़ देते हैं तो आपके ब्लड में शुगर लेवल बहुत ज्यादा गिर जाता है, क्योंकि आमतौर पर आपने 8-10 घंटे से कुछ नहीं खाया होता है। ब्लड शुगर का स्तर गिरने से आपके दिमाग में ऐसे हॉर्मोन्स का उत्सर्जन शुरू हो जाता है जो सिर दर्द और तनाव के लिए जिम्मेदार होते हैं। अगर आप ब्रेकफस्ट छोड़ देते हैं तो दिनभर सुस्ती और थकान महसूस होगी। भले ही खाने में भरपेट भोजन कर लिया हो। सुबह के समय पेट पोषक तत्वों को अवशोषित करने के लिए तैयार होता है। अगर नाश्ता छोड़ देते हैं, तो इससे शरीर को दिन भर के काम के लिए ऊर्जा नहीं मिल पाती है और आपको दिनभर सुस्ती और थकान महसूस होती है। कई लोग सोचते हैं कि कम खाने या न खाने से मोटापा घटता है इसलिए वो डायटिंग करते हैं, लेकिन आपको बता दें कि नाश्ता छोड़ देने या आधा-अधूरा करने से आपका शरीर के थुलथुला होने की संभावना बढ़ जाती है।
फिजिशन डॉ पूनम तिवारी कहती हैं, ब्रेकफस्ट करना सबसे जरूरी है। इससे शरीर में पूरे दिन एनर्जी बनी रहती है लेकिन नाश्ता नहीं करने से शरीर की इम्यूनिटी यानी रोगों से लड़ने की क्षमता कमजोर हो जाती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि भूखे रहने से आपके शरीर के अंदर की सेल्स डैमेज होने लगती है और शरीर पर वायरस, बैक्टीरिया, फंगस और संक्रमण से फैलने वाले रोगों का प्रभाव आसानी से पड़ सकता है।
113 मरीजों पर की गई रिसर्च |
यह शोध दिल के दौरे के शिकार 113 मरीजों पर किया गया, जिनकी औसत उम्र 60 साल थी। इनमें 73 फीसदी पुरुष थे। इनमें पाया गया कि सुबह का नाश्ता नहीं करने वाले मरीज 58 फीसदी थे, जबकि रात का भोजन देर से करने वाले मरीज 51 फीसदी थे और 48 फीसदी मरीजों में दोनों तरह की आदतें पाई गई।

No comments:

Post a Comment