निरहुआ के आने से आज़मगढ़ सीट पर हो सकता है तगड़ा मुकाबला, क्या अखिलेश के लिए खड़ी होंगी मुश्किले - Find Any Thing

RECENT

Tuesday, April 09, 2019

निरहुआ के आने से आज़मगढ़ सीट पर हो सकता है तगड़ा मुकाबला, क्या अखिलेश के लिए खड़ी होंगी मुश्किले

निरहुआ के आने से आज़मगढ़ सीट पर हो सकता है तगड़ा मुकाबला, क्या अखिलेश के लिए खड़ी होंगी मुश्किले.

(with the coming of nirhua, azamgarh seat may be tough fight, will it be standing for akhilesh)
लोकसभा चुनाव में इस बार आज़मगढ़ सीट पर मुकाबला काफी रोचक दिख रहा है. मुलायम सिंह यादव की इस सीट पर एक तरफ जहां समाजवादी पार्टी ने पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को चुनाव मैदान में उतारा है. बीजेपी ने भोजपुरी कलाकार दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' पर दांव लगाया है. मुस्लिम-यादव बाहुल्य इस सीट पर 2014 में बीजेपी के रमाकांत यादव सपा के मुलायम सिंह यादव से करीब 62 हज़ार वोटों से हारे थे. इस बार निरहुआ में तगड़ा मुकाबला हो सकता है. 23 मईको नतीजो में पता चलेगा की क्या होगा,


जातीय समीकरणों की बात करें तो इस सीट पर है इतने वोटर:-
3.5 लाख यादव
3 लाख मुस्लिम
2.5 लाख दलित
1.5 लाख राजपूत
1 लाख ब्राह्मण
1 लाख वैश्य वोटर हैं.
करीब 17 लाख मतदाताओं में मुस्लिम-यादव यहां एक बड़ा फैक्टर है. खासकर सपा और बसपा के मिल जाने से दलित वोटरों को भी गठबंधन अपने पक्ष में मान रहा है. लेकिन बीजेपी उम्मीदवार निरहुआ के रोड शो में लोगों का उत्साह देखकर यहां अच्छे चुनावी मुकाबले की उम्मीद की जा सकती है.
निरहुआ के सामने अखिलेश यादव जैसे कद्दावर नेता जरूर हैं लेकिन सोमवार को करीब 70 किलोमीटर के रोड शो में निरहुआ ने मंदिर में भी पूजा की और पीर बाबा के मजार पर भी मत्था टेका. मेहनाजपुर से लेकर आज़मगढ़ के बीच शादियाबाद, सैदपुर, सखिया बखिया, खरियानी, सिंहपुर, किशनपुर जहां से भी निरहुआ का काफिला गुजरा, वहां सैंकड़ों लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया. निरहुआ खुद यादव समुदाय से आते हैं और इलाके के युवाओं में उनको लेकर जो जोश दिख रहा है, मेहनगर के पास से जब निरहुआ का काफिला गुजर रहा था तो कुछ लोग सपा का झंडा लेकर खड़े थे, जो एक तरह से विरोध का संकेत था.

No comments:

Post a Comment