26.10.18

केंद्र सरकार का बेटियों की शिक्षा को लेकर बड़ा फैसला, सैनिक स्कूल में कर सकती है पढ़ाई

रक्षा मंत्रालय ने सैनिक स्कूलों के दरवाजे लड़कियों के लिए भी खोलने का ऐतिहासिक फैसला किया है। इससे पहले सैनिक स्कूलों में सिर्फ लड़कों की एंट्री थी। 

केंद्रीय रक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष रामराव भामरे ने साफ किया है कि देश के सभी सैनिक स्कूलों में डिवेलपमेंट का काम चल रहा है और स्कूलों में लड़कियों को प्रवेश देने के लिए सुविधाओं का विकास किया जा रहा है।लड़कियों के लिए हॉस्टल्स, टॉइटल्स जैसी दूसरी सुविधाओं के लिए स्कूलों में तैयार की जा रही हैं।
सैनिक स्कूलों में लड़कियों को पढ़ाकर सशक्त्र बलों के लिए तैयार करना महिला सशक्तिकरण की ओर एक ऐतिहासिक फैसला है। लड़कियों को नैशनल डिफेंस अकैडमी में शामिल करने के लिए यह अहम पहल है। आपको बता दें कि लड़कियों को सैनिक स्कूल में प्रवेश देने की मांग लंबे समय से चल रही थी।अभी देश में 26 सैनिक स्कूल हैं और सबसे अधिक हरियाणा में हैं।
लखनऊ में स्थित कैप्टन मनोज पाण्डेय उत्तर प्रदेश प्रदेश सैनिक स्कूल में छात्राओं को इस साल पहली बार प्रवेश दिया था। कक्षा 9 के 2018-19 शैक्षिक सत्र के लिए 2,500 छात्राएं उम्मीदवार थीं। विभिन्न वर्ग की इस छात्राओं में से 15 छात्राओं को चुना गया था। सैनिक स्कूल ने छात्राओं को प्रवेश देकर यूपी ने इतिहास बनाया था। यह देश का इकलौता ऐसा सैनिक स्कूल था, जिसने छात्राओं को भी दाखिला मिला। हालांकि, यह स्कूल प्रदेश सरकार द्वारा संचालित है। यूपी के सैनिक स्कूल के बाद मिजोरम के सैनिक स्कूल में इस साल 6 लड़कियों को दाखिला दिया गया था। यह रक्षा मंत्रालय के तहत आने वाले किसी भी सैनिक स्कूल में लड़कियों को मिला पहला दाखिला था।

SHARE THIS

0 Comment to "केंद्र सरकार का बेटियों की शिक्षा को लेकर बड़ा फैसला, सैनिक स्कूल में कर सकती है पढ़ाई"

Post a Comment

THE7.IN_01