जहरीली शराब से अभी तक हो चुकी है 109 लोगों की मौत,आबकारी विभाग ने किया 75 लोगों को गिरफ्तार - Find Any Thing

RECENT

Sunday, February 10, 2019

जहरीली शराब से अभी तक हो चुकी है 109 लोगों की मौत,आबकारी विभाग ने किया 75 लोगों को गिरफ्तार

जहरीली शराब से अभी तक हो चुकी है 109 लोगों की मौत,आबकारी विभाग ने किया 75 लोगों को गिरफ्तार.

(109 people died due to poisonous liquor, excise department arrested 75 people)

जहरीली शराब के कारण उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में 100 से ज्यादा लोगों के मारे जाने के खबर है. उत्तर प्रदेश के आबकारी विभाग के अनुसार हादसे पर अब तक 297 मुकदमा दर्ज करके 175 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. साथ ही अकेले सहारनपुर में 10 पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है.
दोनों राज्यों में अब तक कुल 109 लोगों की मौत हो चुकी है. और कई लोग हॉस्पिटल में भर्ती भी है.मौत की संख्या 100 के पार जाने पर योगी सरकार की सख्ती के बाद प्रशासन ने अवैध शराब बनाने और बेचने वालों के खिलाफ 15 दिन का अभियान शुरू किया है. सहारनपुर में अब तक 39 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है जबकि 35 मुकदमें दर्ज किए गए हैं. सहारनपुर में अवैध शराब की भठ्ठियों से 36,100 किलो लहन (कच्चा पदार्थ), 250 लीटर कच्ची शराब और 60 लीटर अंग्रेजी शराब बरामद हुई है. अकेले सहारनपुर में 16 गांव के लोग इस जहरीली शराब की चपेट में आए थे.
सरकार ने पीड़ितों के परिजनों के लिए मुआवजे की घोषणा कर दी है. मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख और इलाज कर रहे लोगों को 50-50 हजार रुपये का मुआवजा सरकार की ओर से दिया जाएगा.
जहरीली शराब की इस वीभत्स घटना के बाद राज्य के आबकारी मंत्री जय प्रताप सिंह आज दोपहर में लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं. जहरीली शराब के कारण दोनों राज्यों में मिलाकर अब तक 108 लोगों की मौत हो चुकी है. राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल दुबे ने प्रदेश में जहरीली शराब से बड़ी संख्या में हुई मौतों पर दुख व्यक्त करते हुए इसके लिए प्रदेश सरकार और स्थानीय प्रशासन को जिम्मेदार बताया. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पहले ही लखनऊ, उन्नाव, कानपुर और कई अन्य जिलों में कार्रवाई की होती तो आज सहारनपुर और कुशीनगर में इस घटना की पुनरावृत्ति नहीं हुई होती.उन्होंने जहरीली शराब से मारे गए लोगों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये और बीमारों को 2-2 लाख रुपये का मुआवजा देने की मांग की गयी है.

No comments:

Post a Comment