लाचार पाकिस्तान के लाचार इमरान खान चाहकर भी नहीं दे सकते भारत को जबाब - Find Any Thing

RECENT

Wednesday, February 27, 2019

लाचार पाकिस्तान के लाचार इमरान खान चाहकर भी नहीं दे सकते भारत को जबाब

लाचार पाकिस्तान के लाचार इमरान खान चाहकर भी नहीं दे सकते भारत को जबाब.

(Embarrassed Pakistan's helpless Imran Khan can not even give a wish to India)
भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान की सीमा में 70 किलोमीटर घुसकर आतंकी ठिकानों को तबाह कर दिया. जिसमे 300 से ज्यदा आतंकी ढेरहो गए है. भारतीय वायुसेना के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. जहां मंगलवार को दिन भर इस्लामाबाद में बैठकों का दौर चला, तो वहीं बुधवार को प्रधानमंत्री इमरान खान ने नेशनल कमांड अथॉरिटी की मीटिंग बुलाई है. पाकिस्तान की राष्ट्रीय रक्षा समिति की बैठक के बाद सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल हसन गफूर ने चेतावनी दी है कि इस्लामाबाद का जवाब चौंकाने वाला और अलग तरीके का होगा.


युद्ध लड़ने स्थिति में नहीं है पाक:-
इंस्टीट्यूट ऑफ कन्फ्लिक्ट मैनेजमेंट के कार्यकारी निदेशक अजय साहनी का कहना है कि पाकिस्तान पारंपरिक युद्ध लड़ने की स्थिति में नहीं है. सबसे पहले पाकिस्तान, परसेप्शन मैनेजमेंट के मोर्चे पर अपने देश के लोगों यह बताने में कामयाब रहा है कि भारत की कार्रवाई में जान-माल की कोई क्षति नहीं हुई. पाकिस्तान मोर्टार और आर्टिलरी फायरिंग बढ़ाएगा और अपने देशवासियों को बताएगा कि उसने भारत को काफी नुकसान पहुंचाया.

वायुसेना की कार्रवाई:-
भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक के जवाब में पाकिस्तानी वायुसेना भी इस तरह के विकल्प पर विचार कर सकती है. हालांकि भारतीय वायुसेना के हमले में पाकिस्तान के बेगुनाहों या सेना के किसी जवान की क्षति नहीं हुई है, बल्कि भारत ने पाक आधारित आतंकी ठिकानों को निशाना बनाया है. लिहाजा सवाल उठता है कि पाकिस्तान अपनी वायुसेना का इस्तेमाल किस पर करेगा? अजय लेले जो खुद वायुसेना के अधिकारी रहे हैं, उनका मानना है कि पारंपरिक युद्ध न होने की सूरत में हवाई हमला चौंकाने के लिए किया जाता है.अजय साहनी का मानना है कि पाकिस्तान की वायुसेना की ताकत भारत के बराबर तो नहीं लेकिन उसकी दो तिहाई जरूर है. उसके हथियार भी नए हैं. अजय साहनी का मानना है कि पाक वायुसेना भारतीय सीमा में दाखिल हुए बिना हमला कर सकती है, उसकी क्षमता है. साहनी का कहना है कि भारतीय वायुसेना भी पाक सीमा में दाखिल हुए बिना इस हमले को अंजाम दे सकती थी. लेकिन पाकिस्तान में दाखिल होने के पीछे यह संदेश देना था कि भारत आपकी सीमा में भीतर तक घुसकर सूक्ष्मता से हमला कर सकता है.

लिमिटेड मिलिटरी स्ट्राइक:-
रक्षा विशेषज्ञ अजय साहनी का कहना है कि पाकिस्तान के पास सीमित दायरे में सैन्य स्ट्राइक करने के विकल्प खुले हैं. ऐसे में भारत को कुछ नुकसान पहुंचाकर पाकिस्तान शांत हो सकता है. इस स्थिति में गेंद भारत के पाले में होगी कि अब वो इस मामले को कितना आगे तक बढ़ाना चाहता है.

No comments:

Post a Comment